लॉकडाउन के 105 दिन बाद बस संचालन शुरू हुआ, बसों में बहुत कम यात्री थे

छत्तीसगढ़ : 105 दिन बाद कोरोनाकाल के बीच बस्तर जिले में रविवार से बसों का संचालन शुरू हो गया है। लेकिन पहले दिन यात्री ही नहीं मिले। हालत यह रही कि सुबह 8.30 से 12 तक 3 बसें दक्षिण बस्तर रवाना हुईं। इन तीनों बसों में एक-एक यात्री ही सवार थे। चालक ने मालिकों से बात की और बीजापुर, कोंटा, भोपालपटनम, आवापल्ली, गीदम और अन्य स्थानों के लिए रवाना हो गईं। कुशवाहा ट्रैवल्स के संचालक सतेंद्र सिंह कुशवाहा ने कहा कि 11 बसों की आवाजाही रविवार को हुई जिसमें 16 लोगों ने यात्रा की।

बीजापुर जा रही बस में बैठे यात्री अजीम ने बताया कि ऐसा सफर पहली बार किया जगदलपुर में भाई के घर आया था। अचानक लॉकडाउन लगने से यहीं था अभ वापस बीजापुर जा रहा है। वहीं दो यात्री रायपुर जाने के लिए रविवार सुबह 10 बजे ही बस स्टैंड पहुंच गए थे लेकिन रायपुर जाने बसों की आवाजाही शुरू नहीं होने से वे निराश थे।

बस स्टैंड में यात्रियों से ज्यादा बस कर्मचारी थे
सुबह से देर शाम तक विभिन्न कंपनियों के बसों के कर्मचारी बस स्टैंड में मौजूद थे। सुबह 9 बजे से दोपहर तीन बजे तक करीब 100 से अधिक कर्मचारी बस स्टैंड पर मौजूद थे जबकि यात्रियों की संख्या 10 थी। आरटीओ एसएस कौशल सुबह ही पहुंच गए थे।

बस स्टैंड की दुकानें खुलीं लेकिन भीड़ नहीं लगी
बस स्टैंड के दुकानदारों ने दुकानें खुली रखी थी। लेकिन यात्रियों के नहीं आने से वे काफी निराश थे। कई दुकानदारों ने बताया कि दुकानें खोलने में कोई फायदा नहीं है। यात्रियों के नहीं आने से दुकानों का किराया पटाने में भी परेशानी होगी।