कोरोना वायरस : छत्तीसगढ़ में कल मिले 3725 नए कोरोना मरीज, 1,917 हुए डिस्चार्ज, एक्टिव संख्या 33,044

रायपुर. सोमवार को 3725 कोरोना के नए मरीज मिले हैं, जिसमें 590 रायपुर के केस हैं। दुर्ग से 519, राजनांदगांव से 151, बालोद से 75, बेमेतरा से 39, कबीरधाम से 98, धमतरी से 106, बलौदाबाजार से 140, महासमुंद से 52, गरियाबंद से 57, बिलासपुर से 143, रायगढ़ से 218, कोरबा से 178, जांजगीर-चांपा से 240, मुंगेली से 148, सरगुजा से 113, कोरिया से 68, सूरजपुर से 95, बलरामपुर से 16, जशपुर से 50, बस्तर से 169, कोंडागांव से 62, दंतेवाड़ा से 123, सुकमा से 102, कांकेर से 68, नारायणपुर से 12 तथा बीजापुर से 93 मरीज शामिल हैं।

रायपुर के बाद दुर्ग में कोरोना संक्रमण के सबसे अधिक मामले नोटिस किये गए है। पहले 100-200 के बिच रहने वाले आकड़े धीरे धीरे 200-400 के रेंज में पहुंचते नज़र आये और अब आकड़े ५०० पार कर गए है

राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित 13 लोगों की मौत हुई है।इनमे से 10 को-मोर्बिडिटी डेथ है, नए केस मिलाकर प्रदेश में 1,08,458 पॉजिटिव केस हो गए हैं, जबकि 32,829 अस्पतालों में भर्ती हैं। कल 1,917 मरीज़ उपचार उपरांत स्वस्थ होने के पश्चात डिस्चार्ज/ रिकवर्ड हुए। इनमे से 1355 होम आइसोलेशन वाले है। राज्य में कुल स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज/ रिकवर्ड हुए मरीज़ों की संख्या 74557 है।

लॉकडाउन के पहले 15 से 21 सितंबर तक रायपुर में 5362 मरीज मिले व 50 मरीजों की मौत हुई थी। हांलाकि एक्सपर्ट का कहना है कि लॉकडाउन का असर 10 से 15 दिन बाद पता चलेगा। रविवार को जरूर 500 से कम केस मिले। दरअसल छुट्टियों के दिन कम सैंपलिंग व कम जांच होती है, इसलिए कि लंबे समय से केस कम आ रहे हैं। लॉकडाउन में बाजार जरूर बंद रहे, लेकिन लोगों की आवाजाही जारी थी। इससे मरीजों की संख्या में कुछ कमी आने की संभावना है। डॉक्टरों का कहना है कि अब लॉकडाउन मरीज रोकने के लिए कारगर नहीं कहा जा सकता। जब पूरा देश अनलॉक हो चुका है, तो रायपुर में लॉकडाउन से संक्रमण पूरी तरह नहीं रुकेगा क्योंकि ट्रेनें और फ्लाइट, दोनों चालू हैं।